Dr.श्रुति का उपन्यास द फाइनल कांस्पीरेसी

0
68

डा श्रुति का उपन्यास “द फायनल कॉस्पिरेसी” प्रेम के प्रति आपका नज़रिया बदल देगा।
डाक्टरों का प्यार आम लोगों के प्यार जैसा नही होता बल्कि कुछ ख़ास ही होता है।उनका प्यार खाब में हक़ीक़त और हक़ीक़त में खाब बन जाता है।
डाक्टर का प्यार आपरेशन थियेटर में शुरू होता है। रोगियों की देखभाल के दौरान,वार्ड में भटकता है और थकान से चूर दर्द से बेहाल होकर बेहोश तक हो जाता है,जब आँखें खुलती है तो खुद को ही “आई सी यू “ में पलंग पर लेटा हुआ पाता है।
मगर हरएक उतार चढ़ाव के बाद,डाक्टरों के प्यार का दायरा बढ़ता ही जाता है।माशूक़ का प्यार मिल जाये अगर तो डाक्टर खुद प्यार का समुन्दर बन जाता है💖💖💖

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here